दुनिया भर में यीशु का जन्मदिवस यानि क्रिसमस बड़े ही जोरो शोरो से मनाया जाता है। लेकिन काफी लोगो को यीशु के बारे में काफी रोमांचक बातो के बारे में नहीं पता होता। आईये जानते है कुछ ऐसे ही अनसुने और रोमांचक तथ्य

christ

स्वर्गदूत ने दिया था यीशु को उनका नाम: बाइबिल में लिखा है की जब यीशु का जन्म हुआ था तो उनकी माँ के पास एक सवगदूत आये और उन्होंने उनसे खा की तुम्हारे ऊपर ईश्वर की कृपा है। तुम इस बच्चे का नाम जीजस रखना, इसका राज्य कभी समाप्त नहीं होगा।

christ-1

जीजाद क्राइस्ट का मतलब क्या है ? : बहुत से लोग समझते है की क्राइस्ट जीजस का सरनामे है लेकिन ऐसा है पहली सदी में फिलिस्तीनमें लोगो को सुर्नामे नहीं हुआ करते थे। बच्चो को इनके माता पिता के नाम से जाना जाता था। क्राइस्ट शब्द ग्रीक के क्राइस्टोस शब्द से निकला है, जिसका मतलब मसीहा है।

christ-2

यीशु की असली जन्म तिथि: जहा पूरी दुनिया में यीशु का जन्मदिवस 25 दिसंबर को मनाया जाता है वही उनकी जन्म तिथि को लेकर विद्वानों में कई मतभेद भी है। बहुत पहले हिप्पोलिटस और जॉन क्रिसस्टोम जैसे ईसाई नेताओं ने 25 दिसंबर की तिथि का अवलोकन किया और आखिर में जश्न मनाने के लिए इस तिथि को चुना गया। कई लोग मानते है की यीशु का जन्म ठण्ड में नहीं बल्कि पतझड़ के मौसम में हुआ था।

christ-3

यीशु एकलौते बेटे नहीं थे: मैथ्यू के गॉस्पेल का कहना है की जीजस के कई भाई और बहने थी जिनमे से उन्हें उनके चार भाईयो का नाम भी बताया है। उनका नाम जेम्स, जोसेफ, सायमन और जुडास था।

christ-4

यीशु ने किया था कारपेंटर का काम : यीशु शुरुआत से ही महिसा नहीं बन गए थे। उन्होंने शुरुआती दिनों में बढ़ई का काम भीकिया था। यह काम उन्हें उनके भाई जोसेफ ने सिखाया था।

christ-6

पानी को बनाया शराब: वैसे तो यीशु ने अपनी जिंदगी के दौरान कई चमत्कार किये थे लेकिन लोगो को उनका पहले चमत्कार एक शादी समारोह के दौरान देखने को मिला था। जिसमे उन्होंने पानी को शराब में बदल दिया था।

christ-7

यीशु को कई भाषाओ का ज्ञान था: मैथ्यू के गॉस्पेल यीशु आरामाईक, हिब्रू और ग्रीक समेत कई भाषाएँ बोल सकते थे।

jesus3

यीशु मासाहारी थे: मैथ्यू के गॉस्पेल के अनुसार, यीशु यहूदियों की तरह मांस मच्छी खाया करते थे।