प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर राष्ट्र को संबोधित कर रहे हैं. पीएम मोदी के संबोधन पर सबकी नजरें इस बात पर टिकी हैं कि आगे कोरोना से लड़ाई का कौन सा प्लान वो सामने रखेंगे. क्या अर्थव्यवस्था में रफ्तार के लिए लॉकडाउन में ढील देने का ऐलान कर सकते हैं. दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को जब वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्रियों से चर्चा की तो उन्होंने राज्यों से लॉकडाउन पर फीडबैक मांगा. ऐसे में प्रधानमंत्री क्या बोलेंगे, इसे लेकर उत्सुकता बढ़ गई है।

इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए 20 लाख करोड़ रुपये के बड़े आर्थिक पैकेज का ऐलान किया है। पीएम मोदी ने इसे आत्मनिर्भर भारत पैकेज नाम दिया है. उन्होंने कहा कि इस पैकेज से हमारी अर्थव्यवस्था मैं अब तेजी आएगी । पीएम मोदी ने बताया कि इस पैकेज में वित्त मंत्री और आरबीआई के द्वारा पहले किए गए राहत के ऐलान भी जुड़े हैं ।

सोर्स : गूगल

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि इस 20 लाख करोड़ रुपये का पैकेज भारत की जीडीपी का करीब 10 फीसदी  है, इन सबके के जरिये देश के विभिन्न वर्गों और आर्थिक छेत्रो को जोड़ने में सफलता मिलेगी । 20 लाख करोड़ रुपये का ये पैकेज, 2020 में देश की विकास यात्रा को एक नई गति देगा ।

अपने सम्बोधन मैं पीएम मोदी ने कहा कि थकना, हारना, टूटना-बिखरना, हमे मंजूर नहीं है. सतर्क रहते हुए, कोरोना के सभी नियमों का पालन करते हुए, अब हमें बचना भी है और आगे भी बढ़ना है.

सोर्स : गूगल

इस दौरान पीएम ने भारत के 5 पिलर्स का जिक्र किया. उन्होंने कहा, भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए 5 पिलर हैं, जो इस प्रकार हैं:

  1. इकोनॉमी 

      2.इंफ्रास्ट्रक्चर

      3.सिस्टम

      4.डेमोग्राफी

      5.डिमांड

अपने सम्बोधन के दरम्यान उन्होंने इस महामारी और उस पर भारत की प्रतिक्रिया के बारे में बोलते हुए, पीएम ने बताया कि भारत में प्रतिदिन दो लाख पीपीई किट और दो लाख एन 95 मास्क का निर्माण किया जा रहा है, इसके बावजूद कि देश में कभी भी पीपीई किट या 95 मास्क का निर्माण नहीं हुआ।

आगे उन्होंने लॉकडाउन -4 के संकेत भी दिए जो 18 मई से लागु होगा और अब नए नियमो के साथ आएगा ।