जैसे की आप लोग जानते है कल Mother’s Day था और लोगो ने अपनी माताओ उनके करेज और सपोर्ट के लिए सबने धन्यवाद बोला है। और हाँ ये सच की हमारी माताओ के सपोर्ट ने ही हम सभी के जीवन को बदल दिया है।

आज यहाँ पर हम बातचीत करेंगे , की क्या वो महिलायों जो जॉब कर रही है क्या वे सही तरीके से अपने बच्चो की पर वरियश कर पा रही है, जैसे को ऑफिस मैं बिजी होते हुए बच्चो को सम्भलना कितना मुश्किल होता हैं।

आप यहाँ देखे कैसे एक ट्विटर यूजर प्रशांत सिंह एक दिलचस्प किस्से के साथ यह बताते हैं:

कुछ मित्र लम्बे समय के बाद मिलते हैं, और कुछ के बच्चे हैं और स्कूल और कॉलेज जा रहे हैं।

वक्त गुजर रहा था और अब शाम हो रही , वो लोग अब शाम एन्जॉय कर रहे और बातचीत चालू हैं आगे देखे।

आगे डिबेट मैं वे चर्चा करते हैं की वह कोनसी चीज है जो आगे सफल बनती हैं।

आगे उन्होंने एक डाटा बनाया जिसमे उन्होंने सबके रिकार्ड्स रखा जिस कामकाजी और हाउस वाइफ थे और उनके बच्चो का रिकॉर्ड रखा गया

एक स्टडी मैं भी पाया गया की कामकाजी महिलाओ के बच्चे ज्यादा सफल होते हैं।