तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता बलबीर सिंह सीनियर का चंडीगढ़ में सोमवार को निधन हो गया, आज शाम पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया. वे 95 वर्ष के थे और उनकी बेटी सुशबीर और तीन बेटे कंवलबीर, करनबीर, गुरबीर हैं।

मोहाली फोर्टिस अस्पताल के निदेशक अभिजीत सिंह ने कहा, “आज सुबह करीब 6:30 बजे उनका निधन हो गया, जहां उन्हें 8 मई को भर्ती कराया गया था।”

देश के महानतम एथलीटों में से एक, बलबीर सीन एकमात्र भारतीय थे, जिन्हें अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति द्वारा आधुनिक ओलंपिक इतिहास में चुना गया था।
हमारे प्रधान मंत्री, राष्ट्रपति और गृह मंत्री जी, इंडियन स्पोर्ट्स पर्सन और दिग्गज अभिनेताओं ने भी ट्वीट कर शॉक वयकत किया।

पंजाब के खेल मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढ़ी ने घोषणा की कि मोहाली स्टेडियम का नाम इस महान हॉकी खिलाड़ी के नाम पर रखा जाएगा.

अंतिम संस्कार के समय भारत के पूर्व हॉकी कप्तान परगट सिंह भी मौजूद थे. पंजाब सरकार और चंडीगढ़ प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने उनकी पार्थिव देह पर पुष्प अर्पित किए।