एक तो हम लोग पहले से ही कोरोना से परेशान थे, ऊपर से अब पाकिस्तान से आए टिड्डीओ ने आतंक मचा रखा है. पाकिस्तान से होते हुए ख़तरनाक टिड्डों का दल उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, में फैल चुका है. ये अपने रास्ते में आने वाली सभी हरी फसलों को नष्ट कर रहे हैं।

संयुक्त राष्ट्र के मुताबिक, भारत में टिड्डियों का ये 26 साल में सबसे ख़तरनाक हमला है, जो मानसून के आने तक चल सकता है. टिड्डी दल के आतंक के वीडियो सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं. इन्होंने किसानों और आम लोगों की नाक में दम कर दिया हैं :

locust-in-up

सोर्स : ट्विटर

अब वीडियो में आपने देख ही लिया कि ये टिड्डी कितने ख़तरनाक हैं. चलिए अब आपको टिड्डी दल से जुड़ी ज़रूरी जानकारी भी दिए देते हैं.

1. भारत में जो टिड्डी दल आया है उन्हें रेगिस्तानी टिड्डे कहते है. ये पाकिस्तान के बलूचिस्तान के रेगिस्तान से भारत में आये हैं।

2. छोटी सींग वाले ये टिड्डे दुनिया के सबसे ख़तरनाक कीटों में से एक हैं. इनका जीवन काल 3-4 महीने होता है।

3. अगर इन्हें सही समय पर नष्ट ना किया जाये तो ये अपने रास्ते में आने वाली सारी हरी फसले आदि को ख़त्म कर देंगे।

4. इनकी आबादी तेज़ी से बढ़ती है, ये अकसर झुंड में चलते हैं और एक स्कॉयर किलोमीटर के झुंड में लगभग 15 लाख टिड्डे हो सकते हैं।

5. संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, इनका झुंड एक दिन में उतनी फसल नष्ट करता है जिससे 35 हज़ार लोगों का पेट भरा जा सकता है।

6. ये गर्मी में भी आसानी से रह सकते हैं. वैसे आपको बता दे की इन्होने ग्लोबल वार्मिंग के अनुसार ख़ुद के शरीर में बदलाव किया हैं।

7. रिपोर्ट्स के मुताबिक, अफ़्रीका में इस साल के शुरुआत के 5 महीनों में टिड्डीओ ने 6 खरब रुपये मूल्य की फसलों को बर्बाद कर डाला है।

8. अगर समय रहते इन्हें नष्ट नहीं किया गया तो फिर खाद्य समस्या बहुत ही विकराल रूप धारण कर लेगी ।

इन्हें रोकने के लिए किसान कीटनाशकों का उपयोग कर सकते हैं. इसके अलावा टिड्डी दल के आने पर खेत में थाली आदि बजा कर तेज़ आवाज़ करने से भी ये भाग जाते हैं.