हमारे देश मैं दिन-प्रतिदिन कोरोनो वायरस के मामलों की बढ़ती संख्या और देशव्यापी लॉकडाउन के निरंतर विस्तार से पहले से ही लोगों को भय में रहना पड़ रहा है। ऐसी स्थिति मैं बंदरों की एक टुकड़ी ने उत्तर प्रदेश के मेरठ मैं एक लैब तकनीशियन पर हमला किया और COVID-19 परीक्षण नमूनों के साथ भाग गया।

घटना मेरठ मेडिकल कॉलेज के परिसर के भीतर हुई। नमूने 3 लोगों के थे जिन्हें नोबेल कोरोन वायरस से संक्रमित होने का संदेह था। जो कि डॉक्टरों ने मरीजों के नमूने लिए गए थे, लेकिन इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों के मन में डर है।

टीओआई के अनुसार, एक बंदर को कोरोना वायरस सैम्पल्स को चबाते हुए देखा गया था। स्थानीय लोगों को अब वायरस के फैलने का डर है क्योंकि बंदरों ने परीक्षण किटों को पास के रिहायशी इलाकों में फेंक दिया था।

meerut-monkey-flees-with-covid-test-sample

सोर्स : गूगल

टाइम्स नाउ की रिपोर्ट है कि बंदर COVID-19 से प्रतिरक्षित नहीं हैं। इसलिए, बंदरों से मनुष्यों में वायरस के संक्रमण का खतरा होता है।