कोरोना संकट के बीच मध्य प्रदेश के इंदौर से पिछले दिनों एक शर्मशार कर देने वाला वीडियो वायरल हुआ जिसमें एक बच्चे द्वारा आरोप लगाए गया की अंडे के ठेले को नगर निगम के कर्मचारियों ने पलट दिया। यह वीडियो जल्द ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया और इस पर सियासी बवाल भी मच गया।

rahul-arvind

हालांकि इस वीडियो के वायरल होने के बाद बच्चे की मदद करने वालो की संख्या में तेजी से वृद्धि हो गई और बड़ी संख्या में लोग उसकी मदद को आगे आए। अब तक उसे लाखों रुपये की मदद मिल चुकी है। यहाँ तक की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कांग्रेस नेता राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह समेत कई नेताओं ने बच्चे की मदद की बात कही हैं।

नेताओं की ओर से मिल रही मदद

बीजेपी विधायक रमेश मेंदोला ने बच्चे को पीएम आवास योजना के तहत फ्लैट और 4 जोड़ी कपड़े देने की बात कही तो दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा दोनों भाइयों को 5-5 लाख रुपये की मदद की बात का दावा किया गया।

ramesh-mendola

पीड़ित बच्चों के नाना ने बताया कि दिग्विजय सिंह ने 10 हजार रुपये की सहायता बच्चों को पहुंचाई है। साथ ही दोनों बच्चों को पढ़ाने का खर्चा उठाने की बात भी कही है। नाना ने कहा कि बच्चों के खर्चे की जिम्मेदारी हमारी रहेगी। नाना ने बताया कि 10 साल पहले ही बच्चों की मां की मौत हो गई थी और तब से वही बच्चों की देखरेख कर रहे हैं।

digvijay

पीड़ित बच्चे पारस रायकवार ने बताया कि मुझे दिग्विजय सिंह जी ने साइकिल दी। 4 जोड़ी कपड़े दिए और स्कूल में पढ़ाने का वादा किया है।

क्या है मामला

in-indore-overturn-the-egg

इंदौर के पिपलिया थाने के इस वीडियो को कांग्रेस नेता जीतू पटवारी ने ट्विटर पर पोस्ट किया। वीडियो में साफ दिख रहा कि 14 साल के एक बच्चे के अंडे का ठेला पलटा हुआ है और पीड़ित बच्चा खुद कैमरे के सामने पूरी कहानी बता रहा है। बच्चे का आरोप था कि 100 रुपये के पीछे उसके ठेले को पलट दिया गया।

नगर निगम की टीम गुरुवार को मुसाखेड़ी इलाके में खड़े ठेलों पर कार्रवाई करने पहुंची थी। इस दौरान हड़बड़ाहट में ठेला लेकर भाग रहे बच्चे से उसका ठेला पलट गया। बच्चे ने ठेला गिराने के पीछे नगर निगम के कर्मचारियों को आरोपी बताया, उधर नगर निगम अधिकारियों ने भी इस मामले पर सफाई दी।