देश के कई हिस्सों की तरह मुंबई का धारावी भी कोरोना के खिलाफ जंग में जीत की ओर बढ़ रहा है। एक समय दुनिया के बेहद जोखिम वाले कोविड-19 हॉटस्पॉट में से एक धारावी में आज शुक्रवार को महामारी को लेकर एक भी नया केस दर्ज नहीं किया गया। 1 अप्रैल के बाद ऐसा पहली बार है जब इस स्लम एरिया में कोई नया केस सामने नहीं आया।

dharavi-mumbai

बेहद घनी आबादी वाले इस स्लम एरिया में शुक्रवार को कोरोना का एक भी नया केस सामने नहीं आया। इस तरह से यहां पर महज 12 एक्टिव केस ही हैं।

dharavi_pti

करीब 2.5 वर्ग किमी क्षेत्र में फैले धारावी में 6.5 लाख से अधिक आबादी रहती है और इसे एशिया में सबसे बड़ा स्लम एरिया (झुग्गी बस्ती) कहा जाता है। घनी आबादी वाले धारावी में 1 अप्रैल को कोरोना का पहला केस दर्ज किया गया था और इसके बाद क्षेत्र में लगातार केस दर्ज किए जाते रहे।

dharavi-1

हालांकि, कई रिपोर्टों में यह बात सामने आई कि धारावी के निवासियों ने कोरोना प्रतिबंधों-गाइडलाइंस, आइसोलेशन और देखभाल के व्यवस्थित कार्यान्वयन को सुनिश्चित करने के लिए स्वास्थ्य अधिकारियों का खासा सहयोग किया।

mission-dharavi

दूसरी ओर, देश में इस समय एक्टिव केस घटकर 2.81 लाख तक पहुंच गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि कोरोना संक्रमण के मामलों में रोजाना दर्ज केस की संख्या में गिरावट आ रही है जिससे एक्टिव केस की संख्या में भी कमी देखी जा रही है। देश में इस समय एक्टिव केस की संख्या 2,81,919 हो गई है और यह कुल संक्रमित केस का महज 2.78 प्रतिशत ही है।