भारत-नेपाल कई दशकों की पुरानी दोस्ती अब पहले जैसी नहीं रही, पिछले कुछ महीनों में नेपाल का पहले सीमा विवाद को लेकर राजनीतिक नक़्शा पेश करना, उसके बाद भारतीय न्यूज़ चैनलों के प्रसारण पर रोक लगाना कहीं न कहीं इस दोस्ती को तोड़ने का काम कर रही है।

नेपाल के पीएम ओपी शर्मा ओली का दावा है कि भगवान् श्रीराम की नगरी अयोध्या भारत के उत्तर प्रदेश में नहीं बल्कि नेपाल के बाल्मिकी आश्रम के पास है। बाल्मिकी रामायण का नेपाली अनुवाद करने वाले नेपाल के आदिकवि भानुभक्त की जन्म जयन्ती के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोलते हुए ओली ने यह दावा किया।

kp-sharma-oli

नेपाल के पीएम ने क्या कहा था

नेपाल के पीएम ओपी शर्मा ओली ने कहा कि हमलोग आज तक इस भ्रम में हैं कि सीता का विवाह जिस राम से हुआ है, वह भारतीय हैं। वह भारतीय नहीं बल्कि नेपाली ही है। जनकपुर से पश्चिम में रहे बीरगंज के पास ठोरी नामक जगह में एक बाल्मिकी आश्रम है, वहां के ही राजकुमार राम थे। बाल्मिकी नगर नामक जगह अभी बिहार के पश्चिम चम्पारण जिले में है, जिसका कुछ हिस्सा नेपाल में भी है।

kp-oli-jpg

बता दें कि पिछले कुछ समय से नेपाल की ओली सरकार भारत के ख़िलाफ़ तीखे तेवर अख़्तियार किए हुए है। नेपाल की ओर से नया राजनीतिक नक़्शा जारी करने और भारत के कुछ हिस्‍सों को इसमें शामिल करने को लेकर नेपाल के पीएम ओली पहले से ही भारत की आलोचना के केंद्रबिंदु बने हुए हैं।