अभी कुछ दिन पहले ही भारत सरकार ने भारत में PUBG Mobile बैन कर दिया है। PUBG का कंप्यूटर वर्जन बैन नहीं किया गया है, क्योंकि PUBG पीसी में चीन का स्टेक नहीं है।

पबजी मोबाइल में चीन की कंपनी टेंसेंट का बड़ा स्टेक है या यों कहें कि पबजी मोबाइल टेंसेंट का ही है। अब भारत में बैन होने के बाद जो PUBG की मेन साउथ कोरियन कंपनी पबजी कॉर्पोरेशन भारत में टेंसेंट से अलग हो रही है।

pubg-mobile

पबजी कॉर्पोरेशन ने ये तय किया है कि अब भारत में पबजी मोबाइल के लिए टेंसेंट को ऑथराइज्‍ड नहीं करेगी। यानी अब भारत में पबजी मोबाइल का पब्लिशर टेंसेंट नहीं होगा।

भारत में पबजी मोबाइल के लिए सभी तरह का पब्लिशिंग राइट पबजी कॉर्पोरेशन के पास होगा जो साउथ कोरिया की कंपनी है। पबजी की तरफ़ से ये भी साफ़ कर दिया गया है कि पबजी मोबाइल गेम साउथ कोरियन पबजी कॉर्पोरेशन का हिस्सा है और इस पर कंपनी का पूरा अधिकार है।

साउथ कोरियन PUBG कॉर्पोरेशन का सटेटमेंट

लेटेस्ट डेवेलपमेंट को देखते हुए PUBG कॉर्पोरेशन ने तय किया है कि अब भारत में PUBG मोबाइल का फ्रेंचाइज टेंसेंट को नहीं दिया जाएगा, आगे पबजी कॉर्पोरेशन ही भारत में पबजी मोबाइल का पब्लिशिंग की ज़िम्मेदारी लेगी।

banned

अब चूंकि पबजी बैन को लेकर सरकार ने कहा था कि डेटा, प्राइवेसी और सिक्योरिटी के लिहाज़ से इस गेम से ख़तरा है। ऐसे में अब जब चीनी कंपनी को इससे अलग कर दिया जाएगा तो इस गेमिंग ऐप से बैन भी हटाया जा सकता है।