समझ नहीं आता 2020 मैं अभी और कितनी विपदाएं आनी बाकि हैं जैसे की देश अभी कोरोना महामारी से लड़ रहा है और अब ऐसे समय भारत में रात भर चलने वाले तूफान के और तेज होने की संभावना है। बंगाल की दक्षिण खाड़ी के मध्य भागों के साथ चक्रवात अम्फन ने दो राज्यों – बंगाल और ओडिशा को प्रभावित किया है और कहा जाता है कि अगले 12 घंटों में और खराब हो जाएंगे।

चक्रवात अम्फान अब बंगाल और ओडिशा तट की ओर तेजी से बढ़ रहा है.

अब इसे “सुपर साइक्लोन” कहा जा रहा है और दोनों राज्यों को उसी के बारे में सतर्क कर दिया गया है। इस मुद्दे को संबोधित करने के लिए पीएम नरेंद्र मोदी आज गृह मंत्रालय और राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के साथ शाम 4 बजे बैठक करेंगे।

चक्रवाती तूफान अम्फान के खतरे को देखते हुए एनडीआरएफ की टीमें अलर्ट हैं. एनडीआरएफ के डीजी ने बताया कि ओडिशा में 10 टीमें भेज दी गई हैं, इसके साथ ही हालात पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है.

ओडिशा के तटीय जिलों और पश्चिम बंगाल के कुछ हिस्सों में तेज़ हवाओं के साथ भारी बारिश होने की संभावना है, और इस चक्रवात के 20 मई को पश्चिम बंगाल और बांग्लादेश को पार करने की उम्मीद है।

ओडिशा के बारह तटीय जिले हाई अलर्ट पर हैं, इसमें गंजम, गजपति, पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, मयूरभंज, जाजपुर, कटक, खुर्दा और नयागढ़ शामिल हैं।