संदेह और ईर्ष्या दो चीजें हैं जो कभी भी एक रिश्ते में नहीं होनी चाहिए। आखिरकार,बिन वजह का संदेह या ईर्ष्या किसी भी सच्चे रिश्ते को समाप्त कर सकती है। और, कुछ मामलों में, इसके गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं।

इस तरह के विचित्र घटनाओं की बात करें तो हाल ही में, एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के प्रेमी को जहर देने के लिए नकली COVID-19 हेल्थकेयर वर्कर्स को काम पर रखा था। प्रदीप के रूप में पहचाने गए शख्स को शक था कि उसकी पत्नी का होमगार्ड के साथ अफेयर चल रहा है.

lovers

सोर्स : गूगल

” NDTV रिपोर्ट अनुसार ,होम गार्ड और उसके परिवार से बदला लेने के लिए उसने दो महिलाओं को काम पर रखा था. वे महिलायें उत्तरी दिल्ली के अलीपुर इलाके में उसकी पत्नी के प्रेमी के घर गए और उसे COVID-19 को रोकाने वाली दवा दी. वास्तव में, महिलाओं ने आदमी और उसके परिवार के सदस्यों को जहरीली लिक्विड से भरी बोतल दी थी। जब परिवार ने लिक्विड पिया, तो वे बीमार पड़ गए।

गौरव शर्मा, डीसीपी (आउटर नॉर्थ) ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया, “परिवार ने तरल को निगला और बीमार पड़ गया। उन्हें उनके पड़ोसियों द्वारा नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। वे अब ठीक हो रहे हैं। ”

arrested

सोर्स : गूगल
पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए महिलाओं की पहचान की। “हमने उनका पता ट्रेस किया और उन्हें हिरासत में ले लिया। उन्होंने हमें बताया कि वे एक व्यक्ति के लिए काम कर रहे थे, जो पूरे परिवार को जहर देना चाहता था, ”डीसीपी शर्मा ने कहा।

पुलिस के मुताबिक, दोनों महिलाएं प्रदीप के स्वामित्व वाले डिपार्टमेंटल स्टोर में काम करती थीं. उन्होंने कथित तौर पर परिवार को जहर देने के लिए प्रत्येक को 200 रुपये का भुगतान किया. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और मामला दर्ज कर लिया गया है. अब वह आदमी और उसका परिवार ठीक हो रहा है.

हमें लगता है कि बदला लेना कभी हल नहीं है. आपको क्या लगता हैं : कमैंट्स करके बताये