लॉकडाउन अनलॉक के पहले चरण में आदेश के तहत 8 जून से सारे धार्मिक स्थल खोल दिए जाएंगे। इस कोरोना महामारी से बचाव के लिए मंदिरों की तरफ से कई तरह की सुरक्षा व्यवस्था की जा रही हैं लेकिन खुद को बचाने की जिम्मेदारी हमारी है।

अगर आप भी लॉकडाउन खत्म होने के बाद मंदिर में दर्शन के लिए जा रहे हैं तो कुछ खास बातों पर जरूर ध्यान दें.

मास्क लगाना अनिवार्य होगा :

wear-mask

जब भी अब हम और आप घर से बाहर निकलते हैं तो उस समय मास्क लगाना अनिवार्य हैं। मंदिरों में भीड़भाड़ होना आम बात है ऐसे में खुद के साथ-साथ दूसरों की सुरक्षा के लिए पहली जिम्मेदारी हमारी हैं। इस समय अगर हमे कोई इसके संक्रमण से बचता हैं वह हैं मास्क।

हमे आपस मैं दूरी बनाकर रखना होगा :

social-distance

मंदिर प्रशासन अपनी तरफ से सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखने की तैयारी करेगा लेकिन हमको खुद भी इसका ध्यान रखना है। मंदिर की कतार में खड़े होते समय आगे वाले व्यक्ति से उचित दूरी बना कर रखना होगा।

मंदिरो मैं कोई भी मूर्तियों को नहीं चुना हैं :

do-not-touch-surfaces

इस कोरोना के समय मैं मंदिरों की तरफ से सफाई का पूरा ध्यान रखा जाएगा लेकिन वायरस कब कहां आ जाए ये नहीं कहा जा सकता, इसलिए मंदिर परिसर में किसी भी सतह को छूने से बचें। मूर्तियों को भी ना छुएं और ना ही मूर्तियों को भोग लगाएं।

हमे अपने हाथों को बार बार साफ करना होगा :

wash-your-hand

कोरोना से बचाव के लिए बार-बार हाथों को धोने की सलाह दी जा रही है। मंदिर में प्रवेश के पहले सैनिटाइजर से हाथों को अच्छे से साफ करें और घर आने के बाद हाथों को साबुन से अच्छी तरह धोएं।

ये चार सावधानियां बरतते हुए हम मंदिरो मैं दर्शन कर सकते हैं।