पीएम नरेंद्र मोदी की पर्सनल वेबसाइट और मोबाइल एप का ट्विटर अकाउंट गुरुवार सुबह हैक कर लिया गया, जिसकी पुष्टि ख़ुद ट्विटर ने की है। ट्विटर ने कहा है कि अकाउंट को सुरक्षित करने के लिए क़दम उठाए गए हैं और वो इस मामले की जांच कर रहा है।

पीएम नरेंद्र मोदी के ट्विटर अकाउंट से हैकरों ने ट्वीट कर पीएम नेशनल रिलीफ़ फ़ंड के लिए क्रिप्टोकरेंसी के ज़रिए डोनेशन में मांगा था। पीएम मोदी का narendramodi.in हैंडल से ट्विटर अकाउंट है और मई 2011 में इसे बनाने के बाद से 2.5 मिलियन फॉलोअर्स और 37,000 से अधिक ट्वीट हैं।

इस अकाउंट से ट्वीट किया गया कि, ‘मैं आप लोगों से अपील करता हूं कि कोविड -19 के लिए बनाए गए पीएम रिलीफ़ फंड में डोनेट करें।’ हालांकि, कुछ देर बाद ही इस फ़र्ज़ी ट्वीट को डिलीट कर दिया गया।

एक ट्विटर प्रवक्ता ने एक बयान में कहा, ‘हमें इस घटना की जानकारी है और छेड़छाड़ किए गए अकाउंट की सुरक्षा के लिए क़दम उठाए गए हैं। हम सक्रिय रूप से इस पूरे मामले की जांच कर रहे हैं। फ़िलहाल हमें और किसी अन्य अकाउंट के प्रभावित होने की ख़बर नहीं है।’

बता दें, अकाउंट से आखिरी ट्वीट 31 अगस्त को किया गया था, जो पीएम मोदी के मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात’ से जुड़ा था। प्रधानमंत्री के भाषणों और अन्य कार्यक्रमों के नियमित अपडेट @narendramodi_in से ट्वीट किए जाते हैं।

गौरतलब है कि, जुलाई में भी कई प्रमुख हस्तियों के ट्विटर अकाउंट हैक होने की ख़बर सामने आई थी।