यूनियन मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि कोरोना वायरस एक प्राकृतिक वायरस नहीं है।

इंडिया टुडे टीवी को दिए एक साक्षात्कार में, नितिन गडकरी ने कहा कि हमें कोरोनोवायरस के साथ जीने की कला सीखनी होगी क्योंकि यह एक प्राकृतिक वायरस नहीं है और दुनिया में इसके लिए कोई उपचार नहीं है।

सोर्स : गूगल

नितिन गडकरी ने मंगलवार को एक साक्षात्कार कहा

“कोरोना एक प्राकृतिक वायरस नहीं है, यह एक कृत्रिम वायरस है। दुनिया में इसके लिए कोई अभी कोई उपचार नहीं है, इसके लिए कोई टीका नहीं मिला है, इसके टीके की अभी कोई पहचान नहीं की गई है, यह कब होगा यह हमें नहीं पता है। इसलिए, अब हमें कोरोनावायरस के साथ रहने की एक कला विकसित करनी होगी। आपको अपने हाथ धोने होंगे, एक मीटर दूर रहना होगा, मास्क का उपयोग करना होगा … यह संदेश है और कोई विकल्प नहीं है,

गडकरी ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के सिद्धांत को दोहराया था कि वायरस एक चीनी प्रयोगशाला में उत्पन्न हुआ था।

सोर्स : गूगल

आगे उन्होंने कहा अगर इसका उपचार मिल जाये तो अच्छा है।