अब से फ़ेस मास्क अब हम सबकी ज़िंदगी का एक बहुत महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है। क्यंकि कोरोना कण जायेगा ये खबर नहीं हैं। इन दिनों ऐसे कई लोग हैं जिनको फ़ेस मास्क पहनने की वजह से स्किन की तक़लीफ़ें भी हो रही हैं। मास्क से होने वाली इन स्किन प्रॉब्लम्स को लोग ‘मास्क एक्ने’ या ‘मास्कने’ का नाम दे रहे हैं।

जाने ये मास्कने क्या हैं?

फ़ेस मास्क पहनने की वजह से त्वचा पर होने वाले मुहांसे या दाने को मास्कने का नाम दिया है। इद्रप्रस्थ अपोलो हॉस्पिटल्स,दिल्ली के डॉ. डीएम महाजन, त्वचा विज्ञान(डर्माटोलॉजी) ने Indian Express को बताया,

“एक फ़ेस मास्क पूरी तरह से आपकी नाक और मुंह को ढक लेता है, जिसका मतलब है कि यह इन क्षेत्रों को निकट से प्रभावित करता है. तो कुछ घर्षण के कारण यह मुंहासे पैदा कर सकता है।”

antimicrobial-face-masks

सोर्स : गूगल

मास्क से जुड़े स्ट्रिंग्स की वजह से त्वचा को सांस लेने में दिक्कत होती है जिसके कारण मुंहासे हो जाते हैं। लोग मास्क धोते हैं जिसमें डिटर्जेंट की कुछ मात्रा छूट ही जाती है, तो जब हम मास्क लगातार 2 -4 घंटे पहने रहते हैं तो स्किन में जलन होने लगती है।

‘मास्कने’ से कैसे बचे?

  • सही कपड़े से बना हुआ मास्क पहने जो की आपकी त्वचा को सही से सांस लेने दे।
  • एक मास्क को केवल 2-3 घंटों के लिए पहनें। बार-बार मास्क को एडजस्ट करने से बचने के लिए फ़ेस शील्ड भी पहन सकते हैं।
  • सूर्य की किरणें सबसे अच्छा कीटाणुनाशक है. इसलिए साबुन या डिटर्जेंट से धोने के बजाय, आप मास्क को कम से कम चार घंटे तक धूप में रख सकते हैं।

mask

सोर्स : गूगल

क्या हैं ‘मास्कने’ का इलाज?

आप चन्दन का लेप लगाकर फ़ेस मास्क से होने वाले मुंहासों से छुटकारा पा सकते हैं।

धयान दें: कृपया कुछ भी करने से पहले डॉक्टर से ज़रूर सलाह कीजिएगा.