इस महामारी के कारण दुनिया भर में लगभग 298,296 मौतें हुई हैं,आज तक 4.4 million से अधिक सकारात्मक मामलों पुष्टि हुई हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जिनेवा से वर्तमान स्थिति के बारे में बात करने के लिए एक प्रेस सम्मेलन आयोजित करके बताया

डब्ल्यूएचओ के अनुसार, इस वायरस को नियंत्रित करने के लिए ‘बड़े पैमाने पर प्रयास’ की आवश्यकता होगी और हो सकता ये वायरस कभी न जाये ।
अब हमे धयान रखना जरुरी हैं की : यह वायरस हमारे समुदायों में सिर्फ एक अन्य स्थानिक वायरस बन सकता है, और यह वायरस कभी दूर नहीं जा सकता है। एचआईवी की तरह।

डॉ। माइक ने कहा कि हालांकि अभी 100 से अधिक टीके हैं, लेकिन अभी भी कुछ वायरस अभी भी अन्य बीमारियों की तरह मौजूद हैं जिन्हें पूरी तरह से खत्म नहीं किया गया है।

हमें इस मानसिकता में उतरने की जरूरत है कि इस महामारी से बाहर आने में कुछ समय लगने वाला है।

हालांकि कुछ देशों में भारत सहित लॉकडाउन में आसानी हो रही है, डॉक्टरों ने कहा कि अभी ऐसा कुछ भी नहीं जिससे हम लोगो की लाइफ को संक्रमण की लहर के जोखिम बचाया जाये।

वैसे सभी लक्ष्य कोरोना के संक्रमण के जोखिम को कम करना है ।