भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष सौरव गांगुली को गुरुवार को कोलकाता के अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। अस्पताल से छुट्टी के बाद उन्होंने अपने बचपन के दोस्त जॉयदीप को जीवन के कठिन दौर में साथ खड़े रहने के लिए धन्यवाद दिया।

saurav-ganguly

अस्पताल से निकलने के बाद गांगुली ने मीडिया से भी बात की। उन्होंने कहा, ‘हम अपनी जान बचाने के लिए अस्पताल आते हैं। यह सच साबित हुआ। मैं वुडलैंड्स अस्पताल और उत्कृष्ट देखभाल के लिए सभी डॉक्टरों को धन्यवाद देता हूं। मैं बिल्कुल ठीक हूं. उम्मीद है कि जल्द ही वापसी करूंगा।’

गांगुली ने इंस्टाग्राम पर अपने दोस्त के लिए भावुक संदेश लिखा, ‘जॉयदीप मैं तुम्हें 40 साल से जानता हूं। और अब तुम मेरे परिवार के सदस्य से कम नहीं हो। लेकिन तुमने इन 5 दिनों में मेरे लिए जो किया है, मैं उसे जीवनभर याद रखूंगा।’

अस्पताल ने बयान जारी कर कहा कि इलाज कर रहे डॉक्टर दादा के स्वास्थ्य पर पैनी नजर रखेंगे। साथ ही समय-समय पर स्वास्थ्य संबंधी कदम उठाए जाएंगे। हॉस्पिटल की सीईओ और एमडी डॉ. रूपाली बसु ने कहा कि दादा के स्वास्थ्य पर 24 घंटे नजर रखी जाएगी। बसु ने कहा कि 48 साल के दादा का अगला मेडिकल परीक्षण 2-3 हफ्ते बाद होगा।

Sourav_Ganguly

सौरव गांगुली को बुधवार को हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होना था, लेकिन उनके आग्रह पर एक दिन बाद गुरुवार को हॉस्पिटल से छुट्टी दी गई। उन्हें शनिवार को दिल का हल्का दौरा पड़ने के बाद भर्ती कराया गया था। उसी दिन उनकी एंजियोप्लास्टी की गई थी।