इस समय हमारे देश मैं कोरोना का प्रकोप जारी है, अभी भी लॉक डाउन का चौथा चरण चल रहा हैं। पिछले कई दिनों से हमारी सरकार बहार फसे भारतीय नागरिको वापिस लाने के लिए वंदेभारत मिशन चलाया गया था और उन्हें वापिस लाया भी जा रहा हैं। इसी मिशन के तहत दिल्ली एयरपोर्ट से शनिवार को मास्को जा रही एअर इंडिया की एक फ्लाइट को बीच से ही वापस लौटना पड़ा, जब पता चला कि उस फ्लाइट का पायलट कोरोना संक्रमित है।

यह मामला तब सामने आया जब, शनिवार सुबह दिल्ली से मॉस्को के लिए रवाना हुई एक फ्लाइट पर सवार पायलटों में से एक पायलट कोरोना संक्रमित पाया गया है। इसके बाद फ्लाइट को वापस लौटाने का निर्णय लिया गया। फ्लाइट निकलने से पहले पायलट की कोरोना की जांच की जाती है।

airindia

सोर्स : गूगल

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय ने एक बयान में कहा है कि जांच के लिए आदेश दे दिए गए है। फ्लाइट के वापस आते ही गलतियों की जांच की जाएगी।

एअर इंडिया के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वंदे भारत मिशन के तहत एयर इंडिया का (AI-1945) विमान मास्को में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए निकला था, लेकिन अधिकारियों को पता चला विमान में सवार एक पायलट कोरोना वायरस संक्रमित है। इसके बाद फ्लाइट को वापस बुलाया गया।

जानकारी के मुताबिक फ्लाइट में कुल चार पायलट सवार थे, इनके अलावा दूसरे क्रू मेम्बर भी थे। पायलट की रिपोर्ट पॉजिटिव पता चलते ही फ्लाइट की क्रू से संपर्क किया गया और फ्लाइट को दिल्ली वापस आने को कहा गया।