दुनियाभर के 213 देश कोरोना महामारी से परेशान हैं। लाखो वैज्ञानिक कई महीनों से वैक्सीन की खोज में लगे हुए हैं। इस दौरान कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्होंने कोरोना का मज़ाक बनाकर रख दिया है।

corona-worriers

कोरोना संकट में कोई मिटटी में लोट-पोट होकर, तो कोई गौ मूत्र के सेवन से कोरोना भगाने का दावा कर रहा है। कोई कहता है कि शरीर पर गोबर का लेप लगाने से कोरोना भाग जायेगा, तो कोई लोगों को ‘भाभीजी पापड़’ खिलाकर ख़ुद ही कोरोना पॉज़िटिव हो जाता है। हमारे देश में लोगों के पास कोरोना भागने के कई तरीक़े हैं।

केंद्र और राज्य सरकारें लोगों को कोरोना से बचाने के लिए मास्क पहनने की सलाह दे रही हैं, लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो इस महामारी को हल्के में ले रहे हैं। इनमें एक मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्त्म मिश्रा भी है। मिश्रा जी का कहना था कि ‘वो मास्क नहीं पहनते हैं।

Narottam-mishra

बुधवार को मध्य प्रदेश के गृह मंत्री से जब मीडिया ने सवाल किया कि क्या वो किसी विशेष कारण से मास्क नहीं पहनते तो उन्होंने दो टूक जवाब दिया कि वह इसे पहनते ही नहीं हैं।

उन्होंने कहा, ‘मैं किसी कार्यक्रम में नहीं पहनता (मास्क), इसमें क्या होता है। पहनता नहीं हूं मैं।’ उनके इस जवाब पर मध्य प्रदेश कांग्रेस ने सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टॉरगेट कर दिया।

इस पर मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर कहा, प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा की देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को खुली चुनौती कि, ‘मै मास्क नहीं पहनता।’ है कोई माई का लाल जो नियमों का उल्लंघन करने पर इन पर कार्यवाही का साहस दिखा सके? क्या नियम सिर्फ़ जनता के लिए होते हैं?

इस बयान पर मंत्री जी को माफी मांगनी पड़ी

‘मैं मास्क नहीं पहनता’ वाली टिप्पणी मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा को भारी पड़ गई। उन्हें अपने इस बयान पर माफी मांगनी पड़ी। राज्य के गृह मंत्री ने कहा कि मास्क पहनने के बारे में मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है।

उन्होंने अपने ट्वीट में कहा, ‘मास्क पहनने के बारे में मेरे बयान से कानून की अवहेलना महसूस हुई है। यह माननीय प्रधानमंत्री जी की भावना के अनुरूप नहीं था। मैं अपनी गलती मानते हुए खेद प्रकट करता हूं. मैं स्वयं भी मास्क पहनूंगा। समाज से भी अपील करूंगा कि सभी मास्क पहनें और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करें।’

मास्क पहनने को लेकर केंद्र और राज्य सरकार लगातार निर्देश दे रही है और कई जगहों पर ऐसा नहीं करने वालों के खिलाफ चालान काटा जा रहा है। नरोत्तम मिश्रा का यह बयान ऐसे समय आया जब न सिर्फ मध्य प्रदेश बल्कि पूरा देश कोरोना महामारी की चपेट में है।