भारत सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने अब 47 और चीनी ऐप को प्रतिबंधित कर दिया है। पिछले महीने 59 चाइनीज ऐप को भारत में बैन कर दिया गया था। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक जल्द ही इसकी सूचि जारी की जाएगी।

Chinese-apps-banned

इसके अलावा करीब 250 चीनी ऐप्स की एक सूचि बनाई जा रही है, जिनकी जांच की जानी है। इनपर यूजर की गोपनीयता को भंग करने का आरोप है। जानकारी के लिए आपको बता दें कि इससे पहले मोदी सरकार ने चीन के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए 59 चाइनीज चीनी मोबाइल ऐप्स को बैन कर दिया गया था। इसमें टिकटॉक, शेयर इट, यूसी ब्राउजर, हेलो, विगो, जैसे ऐप शामिल हैं।

59-Chinese-App-Ban-in-India

आईटी मंत्रालय ने कहा था कि। ‘उसे विभिन्न स्रोतों से कई शिकायतें मिली हैं, जिनमें एंड्रॉइड और आईओएस प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कुछ मोबाइल ऐप के दुरुपयोग के बारे में कई रिपोर्ट शामिल हैं। इन रिपोर्ट में कहा गया है कि ये ऐप ”उपयोगकर्ताओं के डेटा को चुराकर, उन्हें भारत के बाहर स्थित सर्वर को अनधिकृत तरीके से भेजते हैं।’

रिपोर्ट के मुताबिक ये ऐप्स चीन के साथ कथित तौर पर डेटा शेयर कर रहे हैं और इस वजह से सरकारी एजेंसियां इनका रिव्यू कर रही हैं। फिलहाल सरकार की तरफ से नए ऐप्स बैन को लेकर कोई स्टेटमेंट जारी नहीं किया गया है।

अब सवाल ये है कि क्या पबजी को भी इस बार बैन कर दिया जाएगा? क्योंकि पबजी के भी कई कनेक्शन चीन से जुड़े हैं, हालांकि ये ऐप पूरी तरह चीनी नहीं कहा जा सकता है।