ये तो सभी को पता हैं की कोरोना वायरस पुरे विश्व मैं चीन के वुहान शहर से फैला हैं. चीन समेत पूरी दुनिया मैं कोरोना का प्रकोप जारी हैं.प्रतिदिन कई हज़ार लोग इसे संक्रमित हो रहे कई हज़ार अपनी जान भी गवा रहे हैं.अब एक खबर आयी हैं की वुहान शहर में जंगली जानवरों को खाने पर 5 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है.कोरोना मामले की पुष्टि के बाद कुछ समय के लिए प्रतिबंद लगाया गया था.

wuhan-city

सोर्स : गूगल

चीन के अधिकारी ने बताया की ये कोरोना वायरस वहां के ” वेट मार्किट ” मैं बेचे जा रहे जंगली जानवरो से मनुष्यो मैं आया है और उसे शरुआत मैं अश्थायी रूप से बंद किया गया था पर अब इस मार्किट को 5 साल के प्रतिबंधित किया गया हैं, इस नई नीति को वुहान सरकार की तरफ़ से 13 मई को लागू किया गया था, जो अगले 5 साल तक के लिए जारी रहेगी.

wuhan wet market

सोर्स : गूगल

चीन के लोग अपने खान-पान में हर तरह के जानवरो का सबसे ज्यादा उपयोग कर रहे हैं. वुहान के ‘वेट मार्केट’ में समुद्री भोजन के अलावा कुत्ता, बिल्ली, लोमड़ी, भेड़िये, कोआला, घड़ियाल, मगरमच्छ, सांप, चूहे, चमगादड़, मोर जैसे असंख्य जंगली जानवरों का मांस बेचा जाता है.अब इसे नुक्शानदायक देखते हुए वुहान शहर में बैन लगाया जाना एक बड़ा क़दम माना जा रहा है.

wuhan wet market

सोर्स : गूगल

अगर कोई इसका उल्लंघन करेगा तो लगेगी भारी पेनल्टी

वुहान सरकार के इस फ़ैसले के बाद किसी भी संगठन या शख़्स को जानवरो या उससे जुड़े उत्पादों के प्रोडक्शन, प्रोसेस, इस्तेमाल या कमर्शियल ऑपरेशन की इजाज़त नहीं होगी. ब्रीडिंग, ट्रांसपोर्ट, ट्रेडिंग, लाना-ले जाना भी अवैध माना जाएगा. यहां तक कि इसे लेकर विज्ञापन, साइनबोर्ड या रेसिपी देने पर भी प्रतिबंध होगा.इस दौरान अधिकारी सर्विलांस सिस्टम के ज़रिए इन सब गतिविधियों पर नज़र रखेंगे और उल्लंघन किए जाने पर भारी पेनल्टी लगाई जाएगी.

wet-market

सोर्स : गूगल

आपको बता दें कि चीन की सरकार फ़रवरी में अस्थायी कानून लागू करके जंगली जानवरों के व्यापार और खाए जाने पर रोक लगा दी थी. इसके बाद हुबेई प्रांत ने मार्च में जंगली जानवरों को खाए जाने पर भी बैन लगा दिया था. चीन का सालाना जंगली जानवरो का वयापार तक़रीबन 520 बिलियन युआन का आंका जाता है.